fbpx

CHARAK KA DASHEMANI GAN

by

चरक का दशेमानि गण

सन्दर्भ – च.सू. 4 ( षड्विरेचनशताश्रितीय अध्याय )

•कुल गण ( महाकषाय ) संख्या – 50

•प्रत्येक गण ( महाकषाय ) में द्रव्यों की संख्या – 10
( 1 ) जीवनीय महाकषाय
( 2 ) बृहणीय महाकषाय
( 3 ) लेखनीय महाकषाय
( 4 ) भेदनीय महाकषाय
( 5 ) सन्धानीय महाकषाय
( 6 ) दीपनीय महाकषाय
( 7 ) बल्य महाकषाय
( 8 ) वर्ण्य महाकषाय
( 9 ) कण्ठ्य महाकषाय
( 10 ) हृदय महाकषाय
( 11 ) तृप्तिघ्न महाकषाय
( 12 ) अर्शोघ्न महाकषाय
(13 ) कुष्ठघ्न महाकषाय
( 14 ) कण्डूघ्न महाकषाय
( 15 ) क्रिमिघ्न महाकषाय
( 16 ) विषघ्न महाकषाय
( 17 ) स्तन्यजनन महाकषाय
( 18 ) स्तन्यशोधन महाकषाय
(19 ) शुक्रजनन महाकषाय
( 20 ) शुक्रशोधन महाकषाय
( 21 ) स्नेहोपग महाकषाय
( 22 ) स्वेदोपग महाकषाय
( 23 ) वमनोपग महाकपाय
( 24 ) विरेचनोपग महाकषाय
(25 ) आस्थापनोपग महाकषाय
( 26 ) अनुवासनोपग महाकषाय
(27 ) शिरोविरेचनोपग महाकषाय
( 28 ) छर्दिनिग्रहण महाकषाय
( 29 ) तृष्णानिग्रहण महाकषाय
( 30 ) हिक्कानिग्रहण महाकषाय
( 31 ) पुरीषसंग्रहणीय महाकषाय
( 32 ) पुरीपविरजनीय महाकषाय
( 33 ) मूत्रसंग्रहणीय महाकषाय
( 34 ) मूत्रविरजनीय महाकाय
( 35 ) मूत्रविरेचनीय महाकषाय
( 36 ) कासहर महाकषाय
( 37 ) श्वासहर महाकपाय
( 38 ) शोथहर महाकषाय
( 39 ) ज्वरहर महाकषाय
( 40 ) श्रमहर महाकषाय
( 41 ) दाहप्रशमन महाकषाय
( 42 ) शीतप्रशमन महाकषाय
( 43 ) उदर्दप्रशमन महाकषाय
(44 ) अंगमर्दप्रशमन महाकषाय
( 45 ) शूलप्रशमन महाकषाय
( 46 ) शोणितस्थापन महाकषाव
( 47 ) वेदनास्थापन महाकषाय
( 48 ) संज्ञास्थापन महाकषाय
(49 ) प्रजास्थापन महाकषाय
( 50 ) वयःस्थापन महाकषाय।

• विस्तृत वर्णन षड्विरेचनशताश्रितीय अध्याय में उपलब्ध है

Leave a Comment

error: Content is protected !!