AYURVEDA KA ITIHAS PART -4

आयुर्वेद का इतिहास प्रमुख कमेटिया भोर कमेटी अध्यक्ष – डॉ . भोर प्रयोजन एवं प्रस्ताव- सन् 1945 में भारत सरकार ने कमेटी का गठन किया । -कमेटी ने स्वीकार किया कि वह समय तथा परिस्थितियां के कारण आयुर्वेदिक पद्धति के विषय में सही सूचनाएं नहीं प्राप्त कर सकी ।-कमेटी ने सुझाव दिया कि स्वास्थ्य मंत्रियों … Read more

AYURVEDA KA ITIHAS PART -3

आयुर्वेद का इतिहास Globalization of Ayurveda भारत के साथ प्राचीनकाल से वर्तमान काल तक व्यापारिक सम्बन्धों की पुष्टि एवं आयुर्वेद के विकास का ज्ञान प्राप्त होता है । विभिन्न देशों के साथ भारत के सम्बन्ध में आगे विचार किया जा रहा है । नेपाल – पूर्व में यह भी भारत का ही भाग था जो … Read more

AYURVEDA ITIHAS PART – 2

आयुर्वेद का इतिहास चरक संहिता ( Charaka Samhita ) उपदेष्टाः पुनर्वसु आत्रेयलेखक : अग्निवेशप्रतिसंस्कर्ता : चरकसम्पूरकः दृढ़बलग्रन्थ संरचनाः वर्तमान काल में उपलब्ध चरक संहिता में कुल 8 स्थान , 120 अध्याय एवं सम्पूर्ण विषय 9295 सूत्रों में वर्णित है ।इन 120 अध्यायों में से 41 अध्याय ( चिकित्सास्थान के 17 अध्याय , सम्पूर्ण कल्प स्थान … Read more