fbpx

AGADA TANTRA

अगद तंत्र

  • अगदतन्त्र आयुर्वेद की एक महत्त्वपूर्ण शाखा है । यह आयुर्वेद के आठ प्रधान अंगों में से एक हैं । इसमें विष , विष के स्वरूप , विष की उत्पत्ति , विष के भेद ; आत्महत्यार्थ , परहत्यार्थ , पशुवध आदि के लिए विष के प्रयोग ; विष के सामरिक प्रयोग ; तत्कालीन रूप में उपलब्ध विभिन्न प्रकार के स्थावर एवं जंगम विषों के स्वरूप , लक्षण , निदान तथा चिकित्सा का विस्तार से वर्णन किया गया है ।

• यद्यपि आजकल अगद तंत्र पर कोई स्वतंत्र संहिता उपलब्ध नहीं है फिर भी आयुर्वेद की बृहतत्रयी, लघुत्रयी और बाद के संग्रह ग्रंथों में इससे संबंधी सामग्री उपलब्ध है।

error: Content is protected !!